Parnert

खांसी के घरेलू उपचार: टॉप टिप्स

खांसी के घरेलू उपचार: टॉप टिप्स


खांसी के घरेलू उपचार: टॉप टिप्स

खांसी के घरेलू उपचार: टॉप टिप्स    नमस्कार दोस्तो आप कैसे हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि आप सभी अच्छे होंगे। आज मैं आपको (coug) खांसी के ऐसे उपचार के बारे में बताने वाला हूं। जिसे आप follow करते हैं तो garanti के साथ आपका सर्दी जुकाम मिट जाएगा।

    अगर आप भी सर्दी जुकाम की खांसी से परेशान हैं तो ये tips आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकती है। जानने के लिए हमारी post को अंत तक पढ़ें।

    खांसी के घरेलू उपचार: टॉप टिप्स


    खांसी और गले में खराश आना mosam का बदलना या (Polluted water) प्रदूषित पानी और घूमने-फिरने के कारण धूल के कण नासिका में जमा होने से सर्दी जुकाम बहुत ही आम हो जाता है। साथ ही साथ हर जगह का पानी अलग अलग होता है उसके कारण भी सर्दी हो जाती है।

    इसके Solution के लिए हमारे पास ऐसे काफी घरेलू नुस्खे उपलब्ध हैं। जिनकी मदद के द्वारा हम इन छोटे-छोटे infection का इलाज आसानी से कर सकते हैं। साथ ही हम बड़ी बीमारी से भी बच सकते हैं । खांसी एक ऐसी बीमारी है कहने में तो वह खांसी है लेकिन यह बड़े से बड़े रोगों को न्योता देती है।

    सर्दी से ग्रसित मरीज के संपर्क में आने के कारण यह बहुत जल्दी फैलती है साथ ही साथ कोई छींकता या थूंकता है उसके कारण भी इसके कीटाणु बहुत तेजी से फैलते हैं।

    खांसी के घरेलू उपाय


    सर्दी जुकाम और खांसी से बचने के लिए महत्वपूर्ण एवं ध्यान देने योग्य बातें-
    १. जल स्वच्छ होना चाहिए।
    २. हमेशा पानी को उबालकर ही इस्तेमाल करें।
    ३. अधिक ठंडा पानी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

    खांसी की दवा

    • सबसे पहले सर्दी और खांसी हो जाने पर गर्म पानी थोड़ा गुनगुना हो पीना चाहिए।
    इससे गले में होने वाली खराश मिट जाती है साथ ही गर्म पानी से कफ पिघल जाता है।
    • अदरक को साफ सिलबट्टा पर खूब महीन पीसकर सूती कपड़े से छानकर उसका रस निकाल लेना चाहिए।
    • मिश्रण बनाने के लिए आवश्यकता अनुसार शहद और अदरक के रस को बराबर बराबर मात्रा में ले लें। और इसे  कांच की शीशी में रखकर अच्छे से मिलाएं।
    • मुलैहठी, को बारीक पीस कर उसमें मिला लें। यह 100 ग्राम मिश्रण में एक चाय के चम्मच के बराबर डालना चाहिए।
    सेवन विधि- तीनों टाइम दो दो ठक्कन खाना खाने से 1 घंटे पहले या बाद में पीना चाहिए। इससे आपको गारंटी के साथ लाभ मिलेगा।
    बच्चों के लिए भी यह बहुत लाभदायक होती है। 4 वर्ष के बच्चों को एक ढक्कन देना चाहिए।
    मुलैहठी को बारीक काटकर चबाकर चूसते रहने से भी खांसी में काफी लाभ मिलता है।
    अगर यह पोस्ट आपको अच्छी लगे तो शेयर जरूर करें

    Post a Comment

    1 Comments

    Please do not enter any spam link in the comment box.If you like the post, do share it

    Recent Comments